Short story on society for kids with a beautiful moral in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए है बिलकुल ही नई कहानी लेकर उम्मीद है आपको ये कहानी काफ़ी अच्छी लगेगी आप इसलिए कहानी को अपने बच्चों को जरूर सुनाये इसीसुनकर उन्हें काफ़ी कुछ दिखने को मिलेगा हमारे इसलिए समाज के बारे है जो की उसके लिए बहुत अच्छी बात है तो चलिये कहानी शुरू करते है 

क्या कहेँगे 4 लोग हिंदी कहानी

Short story on society for kids with a beautiful moral in hindi


एक बार एक आदमी और उसका बेटा अपने गधे के साथ पहाड़ पर चढ़ने जा रहे थे थोड़ी दूर जाने के बाद 4 लोग ऊपर से निचे की ओर उतर रहे थे उन्होंने कहा

4 लोग : देखो कितने बेवकूफ़ लोग है साथ मै गधा है फिर भी पैदल ही पहाड़ पर चढ़ रहे है मै होता तो ऐसा बिलकुल नहीं करता

Read more : countrycircle.in


फिर वो आदमी अपने बेटे को उस गधे पर बैठा देता है ओर पहाड़ चढ़ने लगता है कुछ देर के बाद कुछ और 4 लोग पहाड़ से निचे उतरते है और उन्हें देखकर कहते है

4 लोग : देखो कितना मतलबी बेटा है इसका खुद गधे पर बैठा है और अपने पिता को पैदल चला रहा है मै होता तो ऐसा बिलकुल नहीं करता

ये सुनकर बेटा उस गधे से निचे उतर जाता है और अपने पिता को उसपर बैठने को कहता है उसका पिता फिर उस गधे पर बैठ जाता है और चलने लगता है

कुछ देर के बाद फिर से कुछ 4 लोग पहाड़ से निचे उतरते है और उन्हें देखकर कहते है

4 लोग : देखो कितना मतलबी पिता है खुद गधे पर बैठा है और अपने बेटे को पैदल ले जा रहा है मै होता तो ऐसा बिलकुल नहीं करता

Read more : countrycircle.in

ये सुन कर फिरसे वो दोनों गधे से उत्तर गए और पैदल चलने लगे कुछ दूर फिर से कुछ 4 लोग पहाड़ से निचे उतरने लगे और उन्हें देखकर फिर से बोले

4 लोग: देखो कैसे बेवकूफ लोग है साथ मे गधा है फिर भी पैदल ही चल रहे है

ये दूँ कर उस दोनों को कुछ भी समझ नहीं आएा और वो दोनों ही गधे पर चढ़ गए और आगे बढ़ने लगे कुछ देर के बाद फिर से कुछ 4 लोग पहाड़ से निचे उतरते हुए उन्हें देख कर बोले देखो ये दोनों ही कितने मतलबी इंसान है बेचारे गधे पर बैठे हुए है बिलकुल भी दया नहीं है इन लोगो मे

ये सुनकर इन दोनों को कुछ भी समझ नहीं आ रहा था लेकिन जैसे तैसे करते करते वो पहाड़ पर चढ़ ही गए लेकिन हमें इस कहानी से एक चीज है जो सीखनी चाहिए

सीख

जिंदगी मे कीच भी आपको ये सोचकर नहीं करना चाहिए की वो 4 लोग क्या करेंगे क्योंकि उनका तो काम ही है कहना 


Read more : countrycircle.in

और नया पुराने